हेलो दोस्तों, कैसे हो आप सब लोग उम्मीद करता हु सब खैरियत से होंगे और स्वस्थ होंगे। दोस्तों आज में आपके लिए एक किताब का सारांश लेकर आया हु किताब का नाम Animal Farm. यह किताब George Orwell ने लिखी है बड़ी ही दिलचस्प किताब है आपको पढ़ने में मजा आएगा।


Animal Farm Book Summary in Hindi Part 1 - एनिमल फार्म भाग १


और दूसरा दोस्तो में इस किताब का सारांश भाग वार लेकर आऊंगा शायद ५ भाग आएंगे इस किताब के सारांश के. तोह शुरू करते है Animal Farm Book Summary in Hindi. 

दोस्तों कहानी शुरू करने से पहले आप से एक आग्रह है की आप मेरे ब्लॉग को सब्सक्राइब कर लीजिए ताकि में जो भी लेख दालु उसकी सुचना आपको मिल जाए.

तोह दोस्तों कहानी की शुरुआत होती है Mr Jones नाम के एक व्यक्ति से जिसका एक Farm है और इस Farm का नाम है Manor Farm. अब Mr Jones ने शराब इतनी पी थी की उनको होश ही नहीं था और उनके घर जाने का वक़्त हो गया था. अब Mr Jones ने Farm को ठीक से Lock नहीं किया और घर चले गए.

अब जैसे ही Mr Jones जाते है तोह सारे जानवरो में एक हलचल से शुरू हो जाती है और सारे के सारे जानवर एक खलियान की तरफ चलने लगते है. अब दोस्तों उस खलियान में एक बडा सा सुवर बैठा होता है, अब उस सुवर को सारे जानवरो से बात करनी होती है मतलब उसे एक मीटिंग करनी थी सारे जानवरो से और कुछ विषयो पर उसे बात करनी थी. तोह सब जानवर अपने अपने हिसाब से सही से बैठ गए सुवर की बात सुन्ने के लिए.

सुवर ने मीटिंग शुरू की

तोह उस बूढे सुवर ने बातचीत करना शुरू किया और कहा, साथीयो अब में इतना बूढ़ा हो चूका हु की लगता है मेरी मौत अब करीब है, लेकिन मरने से पहले में आप से मेरा अनुभव और ग्यान आप लोगो से साझा करना चाहता हु. दोस्तों मुझे लगता है हम जानवर बहुत खराब ज़िंदगी जी रहे है, हमे उतना ही खाना मिलता है जितना हमसे हमारा मालिक काम निकाल सके.

उसके अलावा हमारा और कोई काम नहीं जिस दिन हम हमारे मालिक के काम नहीं आएंगे वोह हमे मार डालेगा। यह कहा का कानून और न्याय है की सारा उत्पादन हम करे चाहे वह दूध हो, अंडे हो और कोई और यह सब कुछ ले जाए. अगर हम इंसानो का कुछ नहीं खाते तोह इंसानो को यह हक किसने दिया की वह हमारा माल खा जाए.

अब वक़्त आ चूका है की हम सब जानवरो को एकजुट हो कर Mr Jones को इस Farm से भगाना होगा क्योँकि अगर हमने ऐसा नहीं किया तोह आगे चल कर हमे भूखा रहना होगा या फिर हमे मरना होगा। और अगर हमने ऐसा किया तोह हमे खाना मिलेगा और आराम भी.

सुवर आगे कहता है की इंसान ऐसे जीव होते है की उन्हें सारे चीज़े चाहिए सब कुछ चाहिए बिना किसी मेहनत करे. सारा उत्पादन हम करते है और ले जाता है इंसान, अभी तक हमने सेकड़ो लाखो अंडे दिए होंगे न जाने कितने लीटर दूध दिया होगा इसका बदला हमारा मालिक हमे नहीं देगा। और हमारे साथी बकरी और गाये उसको वह कसाई को बेच देगा जब वोह कुछ काम के नहीं रहेंगे।

हम सब को इसी वक़्त एकजुट होना ही होगा आज ही होना होगा वरना वह सब होगा जो मैंने आप लोगो को अभी बताया। और यह बात बिलकुल गलत है की इंसान और जानवर के आम हित है की इंसानो को जानवरो पे दया आती है और वगेरा वगेरा यह सब झूट है बल्कि इंसान तोह हमारे सब से बड़े दुश्मन है.

अब सुवर की बाते सुनकर सारे जानवर बहुत प्रोत्साहित हो गए और सुवर की बातें इतनी दिलचस्प थी की चूहे भी आ गए सुवर की बात सुन्ने के लिए. अब चूहो को देखकर कुत्ते चूहो के पीछे भागने लगे और यह देखकर सुवर चिल्ला उठा कुत्तो पर और उसने कहा की बस यही दिक्कत है तुम लोगो की हमे एक दूसरे को मारना नहीं हमे मिलकर रहना है चाहे जानवर किसी भी वर्ग का हो हम सब एक दूसरे के भाई बहन है. बिल्ली कुत्तो की बहन है. भूलना मत हमारा दुश्मन आज से सिर्फ एक है और वोह है इंसान।

हमे Mr Jones को इस Farm से भगाना है और इस farm पर हमे अपना कब्ज़ा करना है. लेकिन एक वादा करो जिस दिन हम इस Farm par अपना कब्जा करेंगे हम उसके जैसी बुरी आदते नहीं अपनाएंगे जैसे शराब पीना और आदि. हम अपना सामान दुसरो को बेचना बिलकुल बंद कर देंगे।

सुवर आगे कहता है की मेरी माँ ने मुझे एक गाना सिखाया था वह में आप सब को सुनाना चाहता हु उस गाने का नाम है Beast of England. सुवर वोह गाना गाता है इस गाने में बताया है की बहुत जल्द सारे जानवर इंसानो की उत्पीडन से निजात पा लेंगे।

गाना बडा अच्छा था जानवरो ने उस गाने को बहुत बार दोहराया और काफी जोरो से गाय था इतना जोरो से गाया था की उस गाने की आवाज Farm के बहार Mr Jones के कानो तक गयी.

इस आवाज को सुनकर वोह अपने कमरे से बहार आये उन्होंने हवा में बन्दूक चलाई और इस्से जानवर डरकर भाग गए और यह मीटिंग यही पर ख़तम होती है.

बूढे सुवर की मौत

इस मीटिंग के ३ दिन बाद उस बूढे सुवर की मौत हो जाती है और सुवर की मौत से सारे जानवरो को बहुत बुरा लगता है. भले ही वह सुवर मर गया हो लेकिन उसके विचार ज़िंदा थे और Farm के कुछ बुद्धिमान जानवर विशेष रूप से सुवर, बूढ़े सुवर के उस विचारो को अपने दिमाग में बसा लिया था. इन्ही में से दो सुवर थे Napoleon और Snowball. 

यह दो सुवरो ने उस बूढे सुवर की बात में इतना दम लगा की उन्होंने फैसला कर लिया था क्रांति लाने का, लेकिन सारे जानवर इस बात से सहमत नहीं थे जैसे एक मोटा सुवर था Squealer नाम का जो की बहुत समझदार था बहुत अच्छी बात करता था लेकिन वह इस क्रांति के खिलाफ था. क्योँकि उसे लगता था की Mr Jones हमारा मालिक है वोह नहीं होगा तोह हमे खाने को कौन देगा।

बूढे सुवर की Ideology तोह बहुत अच्छी थी लेकिन कुछ जानवरो को वोह Ideology समज में नहीं आ रही थी या फिर वोह डर रहे थे या फिर उस बूढे सुवर के विचार को ठीक से दूसरे जानवरो को समझाया नहीं जा रहा था.

लेकिन जो भी हो उस बूढे सुवर की बातो ने असर तोह कुछ जानवरो पर छोडा था और उस बूढ़े सुवर के विचारो को Ideology को इन जानवरो ने नाम दिया था Animalism. 

तोह दोस्तों यह था भाग १. आगे जाके कहानी काफी दिलचस्प मौड़ लेने वाली है क्या वह दो सुवर Napoleon और Snowball उस बुढे सुवर के विचार को ज़िंदा रख पाएंगे क्या वह क्रांति ले आएंगे, क्या वह दुसरो जानवरो को अपने साथ इस क्रांति पे जोड पाएंगे। आगे की कहानी की लिए आपको भाग २ पढ़ना ही होगा।

Animal Farm Book Summary in Hindi Chapter - 2

तोह दोस्तों यह था Animal Farm Book Summary in Hindi का सारांश अच्छा लगा हो तोह अपने दोस्तों के साथ शेयर ज़रूर करएगा और कोई सुझाव हो तोह कमेंट के ज़रिये आप मुझे बता सकते है.

धन्यवाद !