हेल्लो दोस्तों, आज में आपके लिए जीवनी लेकर आया हु एक महान वैज्ञानिक जिनका नाम था Stephen Hawking. Stephen Hawking एक महान वैज्ञानिक थे उन्होंने बड़ी आसानी से Black Hole के बारे में समझाया, फिर Einstein की Relativity के बारे में समझाया की यह दुनिया शुरू कहा से हुई कहा से वजूद में आयी यह हमे समझाया.

तोह इनके बारे में सबकुछ जानेंगे बचपन से लेकर इनकी मृत्यु तक सबकुछ , तोह चलिए शुरू करते है Biography of Stephen Hawking in Hindi. 

स्टीफन हॉकिंग जीवनी - Biography of Stephen Hawking in Hindi

दोस्तों लेख शुरू करने से पहले आप से अनुरोध है की अगर आपने मेरे ब्लॉग को सब्सक्राइब नहीं किया तोह सब्सक्राइब कर लीजिए ताकि में जो भी लेख दालु उसकी सुचना आपको मिल जाए.

Early Life

तोह इनका जन्म हुआ था ८ जनवरी १९४२ में, जब इनका जन्म हुआ था तब World War 2 चल रहा था और Germany, Britten पर कभी भी हमला कर सकता था, तोह उस वक़्त सब से सुरक्षित जगह थी ब्रिटेन में वह थी Oxford तोह यही इनका जन्म हुआ था.

Stephen Hawking के मातापिता बहुत ही बुद्धिमान थे दोनों ही Medical Researcher थे, लेकिन यहा पर में आपको एक बात बताना चाहूंगा की यह लोग अमीर नहीं थे Stephen Hawking को Higher Studies के लिए स्कालरशिप पर निर्भर रहना पड़ता था.

जब Stephen Hawking ८ साल के थे तोह Hawking परिवार St. Alben रहने चले गए और वही पर Stephen Hawking ने अपनी पढाई जो है आगे बढाई.

Neem Karoli Baba Biography in Hindi

Education

Hawking परिवार पढाई पर काफी ज़ोर देती थी, Stephen Hawking ने शुरूआती पढाई St. Alben High School से की, और Stephen Hawking एक सामन्य छात्र थे ऐसा नहीं था की बहुत ही बुद्धिमान और जाते ही स्कूल में धमाल मचा दिया नहीं सामान्य छात्र थे लेकिन अपनी पढाई को लेकर काफी गंभीर थे.

लेकिन जैसे जैसे वक़्त गुजरा Stephen Hawking पढ़ने में काफी अच्छे होते गए, और ख़ास कर के गणित इनको काफी पसंद था. Stephen Hawking के पिता चाहते थे की उनका बेटा डॉक्टर बने लेकिन Stephen Hawking को गणित और Space इन सब में ज्यादा रूचि थी.

Stephen Hawking हमेशा आसमान को देखते रहते थे रातो को तारो को देखते रहते थे और यह बात Stephen Hawking की माँ को पता चल गयी थी, तोह Stephen Hawking Science में गणित में जाना चाहते थे.

अब जब Stephen Hawking, Oxford गए पढ़ने के लिए तोह उस वक़्त वहा गणित नहीं पढ़ाया जाता था तोह Stephen Hawking ने वहा Physics पढ़ना शुरू कर दिया और तब Stephen Hawking की उम्र सिर्फ १७ साल थी.

शुरूआती के दो साल यूनिवर्सिटी में Stephen Hawking के लिए अच्छे नहीं थे, क्योँकि एक ही विषय पर पढ़ते रहना रोज़ और फिर Stephen Hawking काफी अकेले रहते थे लेकिन तीसरे साल Stephen Hawking ने रफ़्तार पकड़ी उनको पढाई भी अच्छी लगने लगी और यूनिवर्सिटी के एक club को भी जॉइन किया.

Stephen Hawking Illness

1962 में Stephen Hawking ने अपना Graduation BA (Hons) Physics में Cambridge यूनिवर्सिटी से पूर्ण कर लिया था.

Stephen Hawking को पहले से ही शरीर में कोई तकलीफ थी और यह Stephen Hawking को भी पता था की कुछ तोह गड़बड़ ज़रूर है, वोह कभी बोलते बोलते अचानक से रुक जाते, फिर चलते चलते अचानक से गिर जाते, मतलब इनका दिमाग इनके शरीर को कभी कभी Signal नहीं पोहचा पाता था इस वजह से इनका शरीर कभी कभी प्रतिक्रिया नहीं करता था.

Stephen Hawking ने यह बात अपने परिवारवालों से छुपाई थी लेकिन Stephen Hawking के पिता को यह बात पता चल गयी तोह वोह Stephen Hawking को एक डॉक्टर के पास ले गए तब इन्हे पता चला की Stephen Hawking को Motor Neuron Disease है. इनका दिमाग सही से काम नहीं कर रहा है और इनके पास सिर्फ दो साल है जीने के लिए.

जब डॉक्टर ने Stephen Hawking से कहा की आप सिर्फ दो साल जियेंगे यह बात सुनकर Stephen Hawking, depression में चले गए. लेकिन उनकी बीमारी उनकी महानता की वजह बनी.

Aryabhatta Biography in Hindi

The Rising

Stephen Hawking ने अपनी परिस्तिथि से लडना शुरू किया Stephen Hawking ने कहा मेरे पास जितना भी वक़्त है में उसे पढ़ाई में लगा दूंगा.

विभिन्न खोजे और विभिन्न सिद्धांत इन्होने दिए, इन्होने पढना शुरू किया की यह धरती कैसे आयी यह दुनिया कैसे वजूद में आयी इन सब पर काम करना शुरू किया.

Big Bang Theory वैसे ६ Theory दी जाती है लेकिन Big Bang Theory को सब से ज़्यादा माना जाता है की ब्रह्मांड की शुरुआत Big Bang से हुई थी. लेकिन उस वक़्त समझना मुश्किल था की क्या यह Big Bang Theory सही है या नहीं है क्या वाकई में ब्रह्मांड की शुरुआत Big Bang से हुई थी?

तोह Stephen Hawking ने इस पर काम करना शुरू किया Stephen Hawking ने Black Hole और Big Bang पर लिखना शुरू किया, और १९६५ में Stephen Hawking ने अपनी Thesis प्रकाशित की और वैज्ञानिको ने Stephen Hawking की इन Thesis को माना.

इसी दौरान Stephen Hawking को PhD मिली Mathematics और Theoretical Physics से इनको PhD मिली १९६६ में, और PhD मिलने के बाद Stephen Hawking ने Space को लेकर बहुत सारे लेख लिखे और बहुत सारे निबंध लिखे.

Space Time

वैज्ञानिको ने जब टेलिस्कोप से देखा तोह इनको दिखे Planets इस्से आगे देखा तोह इन्हे दिखे Galaxy और इस्से आगे देखा तोह Cluster दिखे इस्से और आगे दिखा तोह Super Cluster दिखे फिर इसके आगे और देखा तोह दिखी Super Galaxy मतलब यह Space जो है बढता जा रहा है.

वैज्ञानिको ने जब यह देखा की Space तोह बढता जा रहा है तोह इसकी शुरुआत कही न कही से हुई होगी तोह अब वैज्ञानिको ने आगे देखने की बजाय पीछे देखना शुरू किया और तब वैज्ञानिको को मिली समानता. एक छोटे से बिंदु से सब शुरू हुआ, गुरुत्वाकर्षण बल अस्थिर थी और फिर एक चक्र बना और फिर कोणीय क्षण संरक्षित हुआ और फिर एक धमाका होता है जिसे Big Bang बोला गया और यह धमाका पूरी जगह फेल गया और ब्रम्हांड बना और सब से पहले वक़्त बना.

सब से पहले वक़्त आया उसके बाद Particles बन्ना शुरू हुआ उसके बाद Matter बन्ना शुरू हुआ और यह सब साढे तेरा अरब साल पहले हुआ था तोह इसको Big Bang theory बोला जाता है और वैज्ञानिको का मान्ना है की ऐसा हुआ होगा.

अब जब वैज्ञानिको ने पीछे मूड कर देखा की हमे एक Point ढूंढ़ना है की यह सब कहा से शुरू हुआ और पीछे जाने का मतलब है की गणित से गणना कर के पीछे गए और गणित से आप वक़्त की गणना कैसे कर सकते है Albert Einstein की Theory of Relativity की सहायता से.

और यह Theory of Relativity पूरे Space Time को समझाने में मदद करती है तोह अगर आपको वक़्त आगे पीछे करना है तोह आप Theory of Relativity से ही कर सकते है और यही उपयोग किया Stephen Hawking ने.

Stephen Hawking ने यह पढ़ना शुरू किया और बताया की इसकी शुरुआत कैसे हुई और इसी में वह आगे बढे और Black Hole के बारे में बताया की Black Hole क्या है.

पहले Big Bang हुआ फिर Big Crunch होगा मतलब दुबारा Single Space Time पे यह सिमट जायगा फिर Big Bang होगा और फिर Big Crunch होगा इसके बाद फिर से यह Cycle दोहराएगी तोह ऐसे ही यह ब्रम्हांड चलेगा बनेगा बिगड़ेगा तोह यह संकल्पना थी.

What is Black Hole

अब Black Hole को Stephen Hawking ने ऐसे समझाया की कोई भी तारा ज़िन्दा रहता है क्योँकि वहा पर Fusion Reaction होती है. जैसे सूरज में Hydrogen Molecule Fuel कर के ही यह Molecule बना रहे है, दो तहरा की Reaction होती है एक Fission Reaction और दूसरा Fusion Reaction तोह सूरज को Energy मिल रही है Fusion Reaction से. और वहा पे सूरज की गुरुत्वाकर्षण बल बहुत ज़्यादा है तोह जितनी ज़्यादा energy उतना ज़्यादा गुरुत्वाकर्षण बल.

लेकिन सूरज में एक तरीके का Fuel है वोह सक्रिय है तोह जो Fuel की वजह से दबाव उत्पन्न हो रहा है वोह गुरुत्वाकर्षण बल का विरोध कर रही है. मतलब दो ताकतवर इंसान है दोनों एक दूसरे से लड़ रहे है तोह क्योँकि दोनों की ताक़त बराबर है तोह कोई जीतेगा नहीं लेकिन दोनों में से अगर एक की भी ताक़त ख़तम हुई तोह कोई एक जीत जायगा तोह इसी तहरा सूरज में भी ऐसा ही है तोह जो Fuel दबाव उत्पन्न कर रहा है वोह सूरज की गुरुत्वाकर्षण बल को बनाये रक्खा हुआ है. लेकिन जैसे ही Fuel ख़तम हुआ तोह यह गुरुत्वाकर्षण बल सूरज पर अपना कब्ज़ा जमा लेगी और सूरज ख़तम हो जायगा.

अब इसके बाद जो है Black Hole बन जाता है और वोही Single Space Of Time बन जाता है और यह सब कुछ अपने अंदर लेता रहता है क्योँकि गुरुत्वाकर्षण बल जो है अस्थिर होना शुरू हो जाती है. Black Hole का आस पास का इलाका काला है लेकिन Event Horizon मतलब वोह Point जहा पर हमे Black Hole दिखना शुरू होगा वह उज्जवल होगा, क्योँकि जो कण होते है वोह विकीर्ण करते है और अंदर ही फंस जाते है जिसे Hawking Radiation कहा जाता है.

तोह Black Hole भी Radiation को निकालते है क्योँकि सारे कर्ण Black Hole के अंदर आ जाते है तोह जो कर्ण से Energy निकलेगी वोह अंदर ही अंदर फंस जायगी और इसको Hawking Radiation बोला जाता है, और यह Stephen Hawking ने बताया है. अब इस खोज की वजह से Stephen Hawking को Fellow of the Royal Society (FRS) के लिए चुना गया १९७४ में.

The Brief History of Time 

फिर Stephen Hawking ने वक़्त के बारे में बताना शुरू किया इन्होने एक किताब भी लिखी The Brief History of time इसका में सारांश लेकर आऊंगा, तोह इन्होने अपनी इस किताब में वक़्त के बारे में बताया और यह भी बताया की वक़्त और गुरुत्वाकर्षण बल एक दूसरे से संबंधित है और गुरुत्वाकर्षण बल, वक़्त को प्रभावित करती है जितना ज़्यादा गुरुत्वाकर्षण बल होगा उतना वक़्त धीमे चलेगा तभी जब Black Hole के पास इतना ज़्यादा गुरुत्वाकर्षण बल होता है की वक़्त रुक जाता है मतलब अगर आप Black Hole में जा रहे है तोह आपको तोह लगेगा की आप black hole के अंदर जा रहे है लेकिन अगर में आपको दूर से देख रहा हु तोह में आपको देख ही नहीं पाऊंगा क्योँकि वक़्त रुक गया होगा.

लोगो ने जब The Brief History of time को पढा तोह पूरी दुनिया चौक गयी लोगो को काफी पसंद आयी यह किताब और Number 1 Seller रही और आज भी कई लोग इसे खरीद कर पढ रहे है.

Stephen Hawking ने एक documentary भी बनायी थी इस documentary का नाम था Stephen Hawking : Expedition New Earth. इस documentary में इन्होने aliens के बारे में बताया है, वक़्त के बारे में बताया है.

Death 

१४ मार्च २०१८ में ७६ साल की उम्र में इनकी मृत्यु हुई और एक और दिलचस्प तथ्य है Stephen Hawking को लेकर की जब वोह पैदा हुए थे तब Galileo की 300 वीं सालगिरह थी और जब मरे थे उस दिन Albert Einstein की १३९ वीं सालगिरह थी.

तोह दोस्तों यह थी Stephen Hawking की जीवनी, आशा करता हु आपको पसंद आयी होगी, पसंद आयी हो तोह दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करएगा।

धन्यवाद