दोस्तों आज में आपके लिए विलियम शेक्सपियर का नाटक रोमियो और जूलियट उसका सारांश लेकर आया हु, दोस्तों इसे लिखा गया था १५९० में और इसे प्रकाशित किया गया था १५९७ में. इस नाटक की शैली है ड्रामा.


रोमियो और जूलियट नाटक सारांश - Romeo and Juliet Play Summary in Hindi by Shakespeare
रोमियो और जूलियट नाटक सारांश - Romeo and Juliet Play Summary in Hindi by Shakespeare


यह कहानी प्रेमी जोड़ो का या फिर जिन्हे प्रेमकथा पसंद है उन्हें बहुत पसंद आएगी और वैसे भी हम सेकड़ो सालो से सुनते आ रहे की रोमियो जूलियट की जोड़ी या फिर हीर राँझा की जोड़ी तोह यह प्रेमकथा युवाओं को काफी पसंद आएगी.

तोह शुरू करते है रोमियो और जूलियट - शेक्सपियर द्वारा.

कहानी शुरू करने से पहले हम इस नाटक के पात्रो की चर्चा कर लेते है.

पात्र 

दोस्तों यह कहानी दो परिवार वालो के बीच में है एक है मोंटागुएस और दूसरा कापुलेट्स. इन दो परिवार वालो के हम पात्रो को समज लेते है.

मोंटागुएस परिवार

  1. रोमियो - यह मोंटागुएस परिवार से आता है और इसे जूलियट नाम की लड़की से प्रेम हो जाता है.
  2. मोंटागुए - यह रोमियो के पिता है और मोंटागुएस परिवार के मुख्या और यह कापुलेट्स परिवार के सब से बड़े दुश्मन है.
  3. लेडी मोंटागुए - यह मोंटागुए की पत्नी है और रोमियो की माता है.

कापुलेट्स परिवार

  1. कापुलेट् - यह जूलियट के पिता है और कापुलेट्स परिवार के मुख्या है और यह मोंटागुएस परिवार के सब से बड़े दुश्मन है.
  2. लेडी कापुलेट् - यह कापुलेट् की पत्नी है है और जूलियट की माता.
  3. जूलियट - यह कापुलेट्स परिवार से आती है और यह १३ साल की लड़की है.
  4. दाई - इसने जूलियट को पाल पोश कर बड़ा किया है और जूलियट इसे माँ से भी ज़्यादा प्रेम करती है.

कुछ और पात्र

  1. बेनेवोलिओ - यह रोमियो का चचेरा भाई है.
  2. मर्क्युश्यो - यह रोमियो का दोस्त है.
  3. टैबलट - यह जूलियट का चचेरा भाई है.
  4. फ़्रियर लॉरेंस - यह संत फ्रैंक का एक साम्प्रदायिक साधू है और यह रोमियो और जूलियट दोनों का दोस्त है.
  5. काउंट पेरिस - यह बहुत ही पैसे वाला है और यह राजा के लिए काम करता है और जूलियट से विवाह करना चाहता है.
  6. प्रिंस - यह इटली के वेरोना सिटी के राजकुमार है और यह पेरिस इनके लिए ही काम करता है 

तोह दोस्तों इस कहानी की शुरुआत होती है वेरोना नाम की एक जगह से जो की इटली में है अब यहाँ पे दो खानदानो की दुश्मनी बहुत चर्चित है एक तोह है मोंटागुएस और दूसरा कापुलेट्स.

अब इस नाटक की शुरुआत में इन दोनों परिवारों के नौकरो के बीच लड़ाई हो जाती है तब बेनेवोलिओ जो की मोंटागुएस परिवार से आता है वह इस लड़ाई को रोकने की कोशिश करता है, लेकिन इसी बीच टैबलट आ जाता है और वह बेनेवोलिओ से लड़ने लगता है.

अब इतने में जब यह लड़ाई चल रही होती है तोह राजकुमार आता है और वोही इस लड़ाई को रोकता है, और राजकुमार ने दोनों परिवार वालो को चेतावनी दे दी की अब अगर लड़ाई हुई तोह दोनों परिवार वालो के लिए अच्छा नहीं होगा.

अब मोंटागुए और लेडी मोंटागुए, बेनेवोलिओ से पूछते है की बेटा बेनेवोलिओ जब यह झगड़ा हो रहा था तब रोमियो कहा था? तोह बेनेवोलिओ कहता है की रोमियो तोह आज कल खोया खोया सा रहता है. तोह मोंटागुए और लेडी मोंटागुए, बेनेवोलिओ से कहते है की पता लगाओ की वह क्योँ खोया खोया रहता है.

तोह बेनेवोलिओ, रोमियो से इसकी वजह पूछता है, बेनेवोलिओ पूछने पर रोमियो बताता है की वह रोसलिन नाम की लड़की के प्रेम में है और यह एक तरफा प्रेम है सिर्फ रोमियो की तरफ से. तोह बेनेवोलिओ, रोमियो से कहता है की चिंता मत करो में इस में तुम्हारी मदद करूँगा.

वही कहानी की दूसरी तरफ काउंट पेरिस, कापुलेट्स परिवार के मुख्या कापुलेट् से कहता है की मुझे आपकी बेटी से विवाह करना है, इस पर कापुलेट् कहता की बेटा जूलियट तोह अभी सिर्फ १३ साल की है आप एक काम कीजिए आप रात को दावत पर आइये और जूलियट को भी देख लीजिए.

Frankenstein Novel Summary in Hindi

अब कापुलेट्स परिवार का एक नौकर है जिनको शाम की दावत के लिए आमंत्रण दिया जाना है उसकी लिस्ट ले कर शहर में घूम रहा है, जो लोग भी आमनत्रित किये गए थे उनको वह आमंत्रण देने निकला था लेकिन यहाँ दिक्कत यह थी की उस बिचारे को पढ़ना नहीं आता था.

तोह इस नौकर ने बेनेवोलिओ और रोमियो को रोका मदद के लिए उन दोनों ने वह मेहमानो की लिस्ट देखि अब रोमियो ने उस लिस्ट में रोसलिन का नाम देखा तोह इन दोनों ने भी चालाकी से अपना नाम उस लिस्ट में डलवा दिया.

अब दूसरी और जूलियट, उसकी माँ और वह दाई तीनो इस पर चर्चा कर रहे थे की काउंट पेरिस आज शाम को दावत पर आएंगे, जूलियट की माँ और उसकी दाई दोनों ने जूलियट के पास काउंट पेरिस की काफी तारीफ़ की जिससे जूलियट भी काफी प्रभावित हो गयी.

अब दावत का वक़्त हो चूका था तोह रोमियो, बेनेवोलिओ और मर्क्युश्यो यह तीनो उस दावत में शामिल हो गए  चेहरे पर मुखौटा लगा कर, दावत में रोमियो की नज़र जूलियट पर पड़ती है और रोमियो को पहली नज़र में ही जूलियट से प्रेम हो जाता है.

टैबलट, रोमियो को पेहचान जाता है और समज जाता है की यह रोमियो है और मुखौटा पहन कर आया दावत में, वह यह बात कापुलेट् को बताता है लेकिन कापुलेट् कहता है की छोड़ो में इस दावत में लड़ाई झगड़ा नहीं चाहता.

जूलियट को देखकर रोमियो ने उसका हाथ पकड़ लिया और उससे बातें करने लग गया और इतना ही नहीं उसने जूलियट की चुम्मी लेनी की भी कोशिश की, जूलियट को रोमियो यह हरकत अच्छी लगी. लेकिन अब इन दोनों के प्रेम में सब से बड़ी बाधा थी इन दोनों के परिवार वाले.

अब दावत के बाद रोमियो अपने दोस्तों को जूलियट के घर के बहार ले के गया और रोमियो, जूलियट के घर की दीवार पर चढ़ गया और जूलियट से प्यार भरी बातें करने लगा.

अब रोमियो अपने दोस्त फ़्रियर लॉरेंस के पास गया और कहने लगा की क्या तुम मेरी और जूलियट की शादी करवाओगे फ़्रियर लॉरेंस राजी हो जाता है दोनो की शादी करवाने के लिए क्योँकि उसे लगता है इस शादी से दोनों परिवार में कुछ शान्ति आएगी.

रोमियो के दोनों दोस्त रोमियो से कहते है की टैबलट तुमसे लड़ना चाहता है लेकिन रोमियो मना कर देता है, अब रोमियो जूलियट की दाई से कहता है की तुम जूलियट को इस जगह भेजना हम इस जगह शादी कर लेंगे. तोह जुलियट वहा आ जाती है जहा रोमियो ने उसे बुलाया होता है और फ़्रियर लॉरेंस दोनों की शादी करवा देता है.

अब टैबलट रोमियो को गालिया देने लग गया और वह रोमियो से लड़ना चाहता था लेकिन रोमियो को नहीं लड़ना था इतने में रोमियो का दोस्त मर्क्युश्यो आया और वह टैबलट को पीटने लगा, रोमियो ने यह झगड़ा रुकवाने की काफी कोशिश की लेकिन टैबलट ने मर्क्युश्यो पर तलवार से वार कर के वहा से भाग गया.

अब दोस्त का बदला लेने के लिए रोमियो ने टैबलट को मार दिया और मारने के बाद रोमियो भाग गया, अब उस जगह पर राजकुमार आया और बेनेवोलिओ ने उसे सब कुछ समझाया और बताया की रोमियो के हाथ से गलती से टैबलट का खून हो गया.

राजकुमार ने हुक्म दिया की रोमियो को देश से निकाल दिया जाए, अब दूसरी और जूलियट, रोमियो का बेशब्री से इंतज़ार कर रही होती है इतने में उसके पास उसकी दाई आती है और कहती है की तुम्हारे चचेरा भाई टैबलट का खून रोमियो ने कर दिया और वहा से भाग गया.

जूलियट को अटूट विश्वास होता है की ज़रूर टैबलट ने कुछ किया होगा इसी लिए रोमियो ने उसका खून कर दिया, जूलियट ने अपनी दाई से कहा की जाओ रोमियो के पास और कहो की में इंतज़ार कर रही हु.

रोमियो, फ़्रियर लॉरेंस से मिलता है तोह फ़्रियर लॉरेंस उसे कहता है की तुम्हे तोह वेरोना से देशनिकाल कर दिया गया है जो जुर्म तुमने किया है उसके लिए, रोमियो इससे काफी परेशान होता है और वह अपने आप को जान से मारने की कोशिश करता है, इतने में जूलियट की भेजी हुई दाई आती है और वह रोमियो से कहती है की जूलियट तुम्हारा इंतज़ार कर रही है, वही फ़्रियर लॉरेंस, रोमियो से कहता है की तुम अपने आप को मारने की कोशिश मत करना में तुम्हारी मदद करूँगा तुम एक काम करना कल मनटुआ पे आ जाना और वहा पर मेरा इंतज़ार करना.

अब जूलियट के परिवारवालों ने यह तय कर लिया था की जूलियट की शादी हम १० दिन में करवा देंगे काउंट पेरिस के साथ, जूलियट की माँ ने जूलियट से कहा की तुम्हे काउंट पेरिस से शादी करनी है लेकिन जूलियट ने इसका विरोध किया उसने मना कर दिया लेकिन परिवारवालों ने उस पर काफी जोर डाला.

अब जूलियट जाती है फ़्रियर लॉरेंस के पास और कहती है की तुम मेरी कुछ मदद करो, फ़्रियर लॉरेंस ने एक तरक़ीब निकाली उसने जूलियट को एक दवाई दी और कहा की इसे अपनी शादी के ठीक एक रात पहले खा लेना इसे खाने के बाद ४२ घण्टे तक ऐसा लगेगा की तुम मर चुकी हो. और जब तुम्हारे परिवार वालो को लगेगा की तुम मर चुकी हो तोह वह तुम्हे कब्र में दफना देंगे और उनके जाने के बाद में तुम्हे कब्र से निकल दूंगा और तुम्हे रोमियो के पास ले जाऊँगा.

जूलियट के परिवार वालो ने जूलियट की शादी अब १० दिन बाद नहीं कल ही करने का फैसला किया, वही जूलियट यह सोच रही थी की क्या मुझे यह दवाई लेनी चाहिए? लेकिन बहुत सोचने के बाद जूलियट ने यह फैसला लिया की में यह दवाई लुगी.

जूलियट के परिवारवाले जूलियट के कमरे में जाते है और वह जूलियट को मरा हुआ पाते है, जूलियट के परिवारवाले जूलियट को दफनाने की तैयारी करने लगते है.

दूसरी और रोमियो के नौकर मनटुआ जहा पर रोमियो छुपा हुआ था वह जाकर रोमियो से कहा की जूलियट मर चुकी है, यह सुनकर रोमियो ने कहा अब में भी मरना चाहता हु, वह पास ही के एक दवाखाने गया और उसने जहर माँगा.

फ़्रियर लॉरेंस का एक दोस्त होता है फ़्रियर जॉन उसको कहा की जूलियट की यह झूटी मरने की खबर को रोमियो तक पोहचा दो क्योंकि रोमियो को पता नहीं था की जूलियट मरने का नाटक कर रही है. लेकिन फ़्रियर जॉन ने मना कर दिया लेकिन फ़्रियर लॉरेंस ने उसको ज़ोर दे कर कहा की नहीं तुम्हे जाना होगा अभी जूलियट ३ घंटे में जाग जायगी और अगर उसने अपने पास रोमियो को नहीं पाया तोह वह मुझ पर ग़ुस्सा करेगी.

वही दूसरी तरफ काउंट पेरिस जूलियट की कब्र के पास जाता है फूल लेकर तभी रोमियो भी वहा आता है, काउंट पेरिस ने रोमियो को आता हुआ देख लिया था इस लिए उसने अपने आप को छुपा लिया.

अब जब रोमियो, जूलियट को कब्र से बहार निकाल रहा होता है उसे देखने के लिए तभी काउंट पेरिस ने उस पर हमला कर दिया अब रोमियो भी कहा रुकने वाला था तोह रोमियो ने काउंट पेरिस को भी मार दिया.

उसे मारने के बाद वह जूलियट के पास गया उसे देखा और फिर उसने जहर खा लिया और मर गया, अब जूलियट को जब होश आया तोह उसने पाया की रोमियो तोह मरा पड़ा है, इतने में फ़्रियर लॉरेंस भी आता है उसने जूलियट को बताया की ऐसा ऐसा हुआ है, जूलियट, रोमियो की मौत बर्दाश्त नहीं कर सकी और उसने अपने आप को भी मार दिया.

दोनों की मौत की वजह से वहा पर काफी भीड़ जमा हो गयी राजकुमार भी वह पोहचे फ़्रियर लॉरेंस ने राजकुमार को सब बताया की ऐसा ऐसा हुआ था और इन दोनों खानदानों की आपसी दुश्मनी से इन दो बिचारो को अपनी जान देनी पड़ी.

तोह दोस्तों इसी के साथ नाटक ख़तम होता है और हमारा सारांश भी, आशा करता हु की आपको यह मेरा रोमियो और जूलियट नाटक का सारांश पसंद आया होगा.

दोस्तों आप से एक छोटी से गुज़ारिश है की अगर आपको यह लेख पसंद आया हो तोह अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करएगा, और दोस्तों मेरे इस ब्लॉग को ज़रूर सब्सक्राइब कर लीजिए ताकि में जो भी लेख डालू उसकी सुचना आपको मिल जाए.

दोस्तों आपका कोई भी सुझाव हो आप मुझे कमेंट द्वारा बता सकते है.

धन्यवाद