आज में एक नोवेल को एक्सप्लेन करूँगा, नोवेल का नाम है Frankenstein इस नोवेल को लिखा है Mary Shelley ने, और इसका प्रकाशन हुआ था जनवरी १८१८ को, येह एक साइंस फिक्शन नोवेल है जिसको हम कहानी की तहरा समझने की कोशिश करेंगे, तोह शुरू करते है Frankenstein Novel Summary in Hindi.

Frankenstein Novel Summary in Hindi - इंग्लिश नावेल हिंदी में | Hinglish Posts


देखिए इस कहानी को समझने से पहले हम येह समझने की कोशिश करेंगे की इस कहानी का ओरिजिन कहा से हुआ था, तोह Mary Shelley अपने पति P.B. Shelley और उनके दोस्त Lord Byron के साथ बैठी थी, तोह  Lord Byron, P.B. Shelley और Mary Shelley ने यह तय किया की एक दूसरे को मनोरंजन करने के लिए येह लोग मुकाबला करेंगे और भूत प्रेत की कहानी लिखेंगे, तोह तीनो ने कहानी लिखी लेकिन Mary Shelley की कहानी सब से अच्छी थी.

जैसे मैंने कहा की यह नोवेल प्रकाशित हुई थी १८१८ को और जब इसको प्रकशित किया गया था तोह इसे गुमनाम रूप से प्रकाशित किया गया था, Mary Shelley ने अपनी पहचान छुपाई थी, लेकिन १८२३ में जब इसका दूसरा संस्करण आया तोह तब Mary Shelley ने इस कहानी को अपना नाम दिया.

भूत प्रेत की कहानी को कहा जाता है Gothic Fiction, तोह येह एक Gothic Fiction और Science Fiction नोवेल है, लेकिन हम येह जान लेते है की Gothic कहानियो का अर्थ क्या है.

१८ वि सदी में Gothic कहानिया लिखने की प्रवृत्ति बहुत ही लोकप्रिय हो गयी थी, Gothic कहानिया ऐसे कहानिया थी जो के डरावने पहलू और अलौकिक तत्व का आवरण करती है, तोह येह ऐसे कहानिया थी जो भूत प्रेत से सम्बंधित थी.

What do we mean by Frankenstein now?

इस कहानी में हम देखंगे की जो मुख्य नायक है Victor Frankenstein वह एक ऐसी चीज़ की रचना करते है जो उन्हें ही मार देती है, तोह आज कल Frankenstein का मतलब है की आप एक ऐसी चीज़ की रचना कर रहे है जो आपको ही मार देगी.

Story begins with Explorer Robert Walton

Robert Walton जो एक खोजकर्ता है वोह पहले देखते है एक monster figure को, और यह जो monster है वह Victor Frankenstein ने बनाया होता है, और इसके बाद वोह मिलते है Victor Frankenstein से Arctic में और Victor Frankenstein, Robert Walton को अपनी पूरी कहानी बताते है, और Robert Walton फिर हमे खत के द्वारा Victor Frankenstein की कहानी बताते है.

Victor Frankenstein, Robert Walton को बताते है अपने बचपन के बारे मैं और इनकी बहन के बारे मैं और जैसे ही वह पढ़ाई करने के लिए यूनिवर्सिटी चले जाते है इनकी माता की मृत्यु हो जाती है.

अब जब वोह यूनिवर्सिटी जाते है पढ़ाई के लिए तोह उनको विज्ञान से काफी लगाव हो जाता है, और वोह मरे हुए लोगो के साथ तहरा तहरा के प्रयोग करने लगते है, और ऐसे ही एक दिन प्रयोग करते करते वह एक monster बना देते है, और यह जो monster होता है वह बना हुआ होता है शरीर के अंग से, मतलब जो मरे हुए लोग होते है उनके शरीर के अंग से.

लेकिन Victor Frankenstein का ऐसा कोई इरादा नहीं होता है की उन्हें monster बनाना है, वह तोह सिर्फ कोशिश कर रहे थे की क्या मैं मरे हुए लोगो में जान दाल सकता हु विज्ञान की मदद से.

तोह जब वह देखते है की उनके प्रयोगो से अजीब सा monster बन गया है तोह फिर वोह उसे छोर देते है.

अब आगे आता है की Victor का एक भाई है जिसका नाम है William, तोह William की मृत्यु हो जाती है और William को कोई और नहीं मारता बल्कि Victor के हाथो का ही बनाया हुआ monster William को मार देता है.

लेकिन William की मौत का इलज़ाम लगता है उनके नौकर Justine Mortiz पर और इस वजह से उन्हें फांसी दी जाती है, लेकिन अपने भाई William को मरता हुआ Victor ने देखा होता है तोह Victor को पता होता है की उनके भाई को monster ने मारा है. लेकिन वह चुप इस लिए रहते है क्योँकि एक तोह वह monster उन्होंने बनाया होता है तोह सजा उनको भी मिलेगी, और दूसरा यह भी हो सकता था की कोई इनकी बात ना माने.

अब monster और Victor Frankenstein मिलते है Swiss Mountains में, अब monster जो है अपनी कहानी बताता है वह बताता है की कैसे उसने अपने आप को जीवित रक्खा है.

Monster, Victor Frankenstein से कहता है की उसने अपनी ज़िमेदारी नहीं निभाई, उसे इस तहरा से मुझे नहीं छोर देना चाइये था, और वह येह भी कहता है की उसे एक औरत को बनाना चाइये, ताकि वोह monster का साथ दे, और इस बात को Victor Frankenstein मान जाते है.

Victor Frankenstein, Orkneys में एक सुदूर स्थान पर औरत को बनाने की शुरुआत कर देते है, लेकिन अचानक ही उन्हें ख़याल आता है की, एक monster ने पहले ही William को जान से मार दिया है, अब अगर  कही दूसरा monster बन जाता है तोह दोनों मिलकर तभाई मचा सकते है, तोह जो वह औरत बना रहे होते है उसे वह आधे में ही छोर देते है और बाकी आधी बॉडी के टुकड़े कर देते है.

लेकिन Victor Frankenstein को पता नहीं होता की monster उसका पीछा कर रहा है, और वह देख जाता है की कैसे Victor Frankenstein ने काम आधे में से ही छोर दिया, और उसने औरत नहीं बनायी.

यह सब देख कर monster बहुत ग़ुस्सा हो जाता है और इसका बदला लेने के लिए वह Victor Frankenstein के करीबी दोस्त Henry Clerval को मार देता है.

अब कहानी आगे भड़ती है Victor Frankenstein और Elizabeth की शादी हो गयी होती है, लेकिन कुछ ही दिनों बाद monster, Victor Frankenstein की पत्नी को भी मार देता है. अब Victor Frankenstein प्रतिज्ञा लेते है की वह monster को जान से मार डालेंगे.

अब Robert Walton के आखरी खत होता है उस में वोह बताते है की Arctic में ही Victor Frankenstein और monster दोनों ही एक दूसरे को जान से मार डालते है.

तोह दोस्तों यह थी Frankenstein Novel Summary in Hindi. अगर आप इसको खरदीना चाहते है तोह निचे Amazon के Ad पर click कर के आप इसे खरीद सकते है.