हेलो दोस्तों आज में  लिए लेकर आया हु मुकेश अंबानी जीवनी - Biography of Mukesh Ambani in Hindi. यह भारत के सब से अमीर इंसान है, अरे सिर्फ भारत ही क्या यह तोह एशिया के सब से अमीर इंसान है. यह Dhirubhai Ambani इनके बड़े बेटे है, Reliance Industries को बुलंदिओं पर पोहचा दिया है आज, और इनकी व्यापार रणनीति तोह कमाल की है दाम काम कर दो और अपना एकाधिकार जमा लो बाजार पर.

मुकेश अंबानी जीवनी - Biography of Mukesh Ambani in Hindi | Hinglish Posts


Mukesh Ambani Early Life

Mukesh Ambani का जन्म १९ अप्रैल १९५७ में हुआ था, यह Dhirubhai Ambani के सब से बड़े बेटे है, Dhirubhai Ambani के कुल ४ बच्चे है, सब से पहले Mukesh Ambani फिर Anil Ambani और दो बेटिया है Nina और Dipti.

Mukesh Ambani Yemen में पैदा हुए थे, क्योँकि Dhirubhai Ambani वहा पर काम करते थे, और जैसे ही Mukesh Ambani का जन्म होता है तोह एक साल में ही Dhirubhai Ambani वापस अपने परिवार को लेकर भारत आ जाते है, अब जब Mukesh Ambani का जन्म हुआ था तोह Dhirubhai Ambani के पास कुछ भी नहीं था.

फिर भी भारत में आकर Dhirubhai Ambani ने व्यापार शुरू किया, कपडे का काम भी किया, शुरू में तोह व्यापार बिलकुल नहीं चला, लेकिन बाद में इनका व्यापार बहुत चला, और फिर Dhirubhai Ambani ने अपने व्यपार का विस्तार किया, १९८० के बाद Reliance हर जगह फेल गया था तोह Dhirubhai Ambani ने अपने बड़े बेटे Mukesh Ambani को साथ में ले लिया.

Mukesh Ambani Education 

अगर इनकी पढ़ाई की बात करे तोह इन्होने अपना शुरूआती पढ़ाई Hill Grange High School यहाँ से की, और इसके बाद इन्होने BE की डिग्री ली University of Mumbai से.

इसके बाद MBA करने के लिए यह Stanford University चले गए लेकिन १९८० में इनको भारत बुला लिया गया, तोह MBA इनका पूरा नहीं हो पाया और अपने परिवार के व्यपार को संभालने आ गए.

Mukesh Ambani Career 

१९८१ से लेकर अभीतक Mukesh Ambani Reliance के लिए काम कर रहे है, और इसी वक़्त Dhirubhai Ambani को स्ट्रोक पड़ा था और इसी वजह से उन्होंने कंपनी की सारी बागडोर Mukesh Ambani को सोप दी थी.

देखिए Reliance Industries की अगर बात की जाए तोह Reliance की नीव रक्खी  Dhirubhai Ambani ने, इस नीव को मज़बूत किया, लेकिन Reliance Industries का विस्तार किया Mukesh Ambani ने.

उस वक़्त Mukesh Ambani के साथ इनके छोटे भाई Anil Ambani भी इनके साथ काम कर रहे थे, Anil Ambani की भूमिका व्यापार में यह थी की लोगो से मिलना उनको व्यापार के बारे मैं बताना, वित्त को देखना और विदेशी निवेशको को आमंत्रण देना की आप हमारी कंपनी में निवेश कीजिए.

Mukesh Ambani परदे के पीछे काम कर रहे थे, इनका काम था रणनीति बनाना, सही लोगो को जॉब देना, और लॉन्ग टर्म प्लान्स बनाना यह Mukesh Ambani का काम था.

सब कुछ भड़िया चल रहा था २००५ तक, लेकिन २००२ में Dhirubhai Ambani का दिहांत हो जाता है तोह गद्दी को लेकर मतलब व्यापार किसको मिलना चाहिए इसको लेकर झगडे शुरू हो गए, तोह Kokilaben इन दोनों की माताजी ने आधा व्यापार Mukesh Ambani को दिया और आधा से ज़्यादा व्यापार Anil Ambani को क्योँकि बड़े भाई को हमेशा त्याग करना पड़ता है.

Telecom Industry बहुत मेहनत से Mukesh Ambani ने बनायी थी लेकिन वह Telecom Industry Anil Ambani को दे दी गयी, लेकिन इतना सब कुछ मिलने के बाद भी Anil Ambani ज़्यादा सफल नहीं हो पाए आपको जान के हैरानी होगी की Anil Ambani का net worth था $४५.१ लेकिन अभी $१.३ पर आ गए है, मतलब साढे चार लाख करोड़ से सीधा तेरा हज़ार करोड़.

दूसरी तरफ Mukesh Ambani को देखे तोह वह सफलताएं की नयी सीडी चढ़ते जा रहे है, जिस प्रचंड तरीके से Anil Ambani का पतन हुआ उसी प्रचंड तरीके से Mukesh Ambani का उदय हुआ.

२०१६ में Mukesh Ambani भारत के सब से अमीर इंसान की सूचि में ३८ वे स्थान पर थे , २०१८ में Forbes के हिसाब से Mukesh Ambani १८ वे सब से अमीर इंसान थे दुनिया के.

१९८० में Mukesh Ambani ने कंपनी को ज्वाइन किया, देखिए Dhirubhai Ambani पर हमेशा अनैतिक व्यापार का आरोप लगता रहा है की इन्होने सरकार से काफी मदद ली है, कई सारे वीडियोस में हमे देखने को मिलेगा की Dhirubhai Ambani और Indira Gandhi एक ही मंच पर है.

राजनैतिक पार्टिया जो है वह अपने पैसो से चलती नहीं है, उनको फंड आता है और यह फंड देते है बड़े बड़े उद्योगपति, उद्योगपति सरकारों को पैसा देते है, और कभी कभी उद्योगपतियों को भी सरकार की ज़रुरत पड़ती है क्योँकि कोई भी व्यापार शुरू करना है तोह पचासो अनुमति लेनी पड़ती है सरकार से.

१९८० में लाइसेंस राज था कोई भी व्यापार शुरू करना है तोह पहले सरकार की अनुमति लो और बहुत दिक्कत थी, इस लिए Dhirubhai Ambani कांग्रेस पार्टी का काफी साथ देते थे, तोह Dhirubhai Ambani को कोई भी नया व्यापार शुरू करना होता था वह काफी आसानी से शुरू हो जाता था.

अब १९८० में Dhirubhai Ambani ने Polyester Filament Yarn का प्लांट डाला, और यह व्यापार चला भी, इसके बाद यह विस्तार करना चाहते थे तोह Petro Chemical के क्षेत्र मैं उतर गए, और इस वक़्त Mukesh Ambani पूरी तरीके सक्रिय थे कंपनी में.

१९८६ के बाद पूरी ज़िम्मेदारी Mukesh Ambani पर आ गयी थी, Mukesh Ambani के बारे मैं बोला जाता है की इनका खुद का केबिन नहीं है, क्योँकि Mukesh Ambani क्या करते है की कोई भी प्रोजेक्ट आये उसको वही पर शुरू कर दो, मतलब अगर कोई फाइनेंस का प्रोजेक्ट है तोह फाइनेंस डिपार्टमेंट में ही काम करना शुरू कर दिया.

Mukesh Ambani काफी धार्मिक इंसान है काफी चढ़ावा जाता है मंदिरो में Reliance के नाम से, और खेल को बहुत ज़्यादा महत्व देते है और काफी निवेश भी किया है इन्होने खेल क्षेत्र में जैसे Indian Super League, फिर IPL तोह खेल को यह काफी बढावा देते है.

Dhirubhai Ambani  जैसे ही रिटायर्ड हुए तोह Mukesh Ambani ने विस्तार करना शुरू कर दिया, जब Vodafone और Idea टावर लगा रहे थे, Mukesh Ambani निचे से optical fiber बिछा रहे थे और यही फायदा हुआ Mukesh Ambani को.

२००२ में Dhirubhai Ambani की मृत्यु हो गयी, दोनों भाई परेशानी में आ गए थे क्योँकि पिताजी ने सम्पति का बटवारा नहीं किया था, अभीतक तोह दोनों भाई साथ में काम कर रहे थे अच्छे से लेकिन २००४ के बाद इन्होने साथ मैं काम नहीं किया.

Comparison Between Mukesh and Anil Ambani

Anil Ambani को telecom सेक्टर मिला Anil Ambani की जो कमपनी थी ADAG, और Mukesh Ambani की जो कंपनी थी वह Reliance ही रही, Anil Ambani ने निवेश करना शुरू कर दिया, सब से पहले तोह Anil Ambani ने Reliance Pictures मूवीज में निवेश किया और बहुत सारी multiplex स्क्रीन बनवाई.

शुरू में Anil Ambani को फायदा हुआ, लेकिन धीरे धीरे यह घाटे मैं आने लगे, देखिए Anil Ambani के बारे मैं बोला जाता है की यह काम को शुरू तोह कर देते है लेकिन उसको अंजाम नहीं दे पाते, और यही Telecom  Sector के साथ हुआ पहले यह Anil Ambani के पास था लेकिन बाद में जब घाटा हुआ तोह वह चला गया Mukesh Ambani के पास.

Mukesh Ambani की रणनीति कुछ अलग ही थी उनको पता था की इन सब क्षेत्रों को कैसे संभालना है, और २०१६ में Mukesh Ambani ने Jio लांच कर दिया.

Mukesh Ambani और Dhirubhai Ambani की व्यपार रणनीति में काफी समानताए है, Mukesh Ambani हर काम दिल से करते है और जब वोह काम करते है तोह वह घडी को नहीं देखते और काम को उसके अंजाम तक पोहचा कर ही रहते है.

Mukesh Ambani की रणनीति क्या रहती है की पहले दाम गिरा दो, जब Jio लांच हुआ था तोह २७० करोड़ का घाटा हुआ था Mukesh Ambani को, लेकिन Mukesh Ambani इससे घबराये नहीं, यही चीज़ Dhirubhai Ambani करते थे जैसे कपड़ो काम जब शुरू किया था Dhirubhai Ambani  ने तोह Dhirubhai कपडा ६० रूपये में बेचते थे जब की बज़ार में दूसरे लोग १०० रूपये का बेचते थे.

आपको अगर याद हो तोह Airtel का 2G sim card उसमें 2GB २५० रूपये का रहता था और कालिंग तोह मुफ्त थी नहीं उसका चार्ज अलग से, लेकिन Mukesh Ambani ने जैसे Jio लॉच किया Airtel, Idea, Vodafone सब को पसीना छूट गया.

Youtube भारत में आज इतना प्रसिद्ध है क्योँ है? Jio की वजह से, क्योँकि पहले लोगो के पास इतना इंटरनेट था ही नहीं की वह youtube पर घंटो वीडियोस देखे, और सिर्फ Youtube ही नहीं online shopping को भी काफी फायदा हुआ, online सम्बंधित जितने भी चीज़े सफल हुई है उसका श्रेय Jio को जायगा.

तोह Jio की रणनीति की बात करे तोह पहले तोह Mukesh Ambani ने मुफ्त में सिमकार्ड बाटे, इससे घाटा हुआ लेकिन Jio सब के पास आ गया लेकिन अब Mukesh Ambani धीमे धीमे उसके पैसे भड़ाते जा रहे है.

तोह Mukesh Ambani की रणनीति यही है की पहले दाम घटाओ फिर दाम भड़ाओ लेकिन यह एक विनाशकारी रणनीति है क्योँकि इससे तोह एकाधिकार हो जाता है, तोह आरोप अभी यही लग रहे है Mukesh Ambani पर की Jio ने जिसतहरा से बाजार को बर्बाद किया है ऐसे तोह एकाधिकार हो जाता है.

अगर बाजार मैं मुकाबला नहीं रहेगा और एकाधिकार हो जाता है सिर्फ एक ही कंपनी बाजार मैं रूल करेगी तोह वह अपने हिसाब से ही बाजार को नियंत्रण करेगी, मान लीजिए कल को सिर्फ Jio बाजार मैं रहती है और Jio ने  बोल दिया की हम २००० रूपये लेंगे 4GB डाटा के तोह आपको देने ही पड़ेंगे आपके पास और कोई चारा नहीं है क्योँकि एक तहरा से एकाधिकार है.

तोह Anil Ambani साढे चार लाख करोड़ से अभी तेरा हज़ार करोड़ पर गए वही दूसरी और बड़े भाई का उदय हुआ है, और दुनिया के Top 10 अमीर इंसानो मैं Mukesh Ambani का नाम रहता ही है.

Mukesh Ambani Personal Life 

Mukesh Ambani ने शादी Nita Ambani से की है १९८५ में और यह लवस्टोरी बड़ी ही दिलचस्प है, हुआ यह था की Nita Ambani की माता जो है वह कत्थक डांसर है और Nita Ambani को भी कत्थक आता है, तोह एक सांस्कृतिक प्रोग्राम में Nita Ambani आयी हुई थी वह पर Dhirubhai Ambani मुख्य अतिथि थे और इनके साथ Mukesh Ambani भी थे.

Nita Ambani ने वह नृत्य करना शुरू किया, और Mukesh Ambani उन्हें देखते ही रह गए और Dhirubhai Ambani समज गए की Mukesh Ambani क्या चाहते है, तोह अगले ही दिन Nita Ambani को कॉल किया, तोह Dhirubhai Ambani ने कहा की में Dhirubhai Ambani बोल रहा हु, Nita जी ने कहा की wrong number और फ़ोन रख दिया.

लेकिन Dhirubhai Ambani ने फिर फ़ोन किया और फिर कहा की में Dhirubhai Ambani बोल रहा हु, लेकिन Nita जी ने कहा की अगर आप  Dhirubhai Ambani बोल रहे हो तोह मैं Queen Elizabeth Taylor बोल रही हु और फ़ोन काट दिया.

तीसरी बार फ़ोन किया, और इस बार नीता जी ने उठाया ही नहीं, इस बार इनके पिताजी ने उठाया, और उनके पिताजी ने Dhirubhai Ambani से बात की समझाया और कहा की नीता से मुझे बात करनी है, तोह नीता ने बात की और अपने कार्यालय में नीता जो को बुलाया.

तोह  Dhirubhai Ambani के कार्यालय में ही Dhirubhai Ambani ने Nita जी को Mukesh Ambani से मिलवाया, अब प्रस्ताव भी बहुत अच्छे से रक्खा था Mukesh Ambani ने अपना, Mukesh Ambani, Nita जी को लेकर गए कार में, ट्रैफिक सिग्नल पर लाल लाइट हुई तोह कार रुक गयी और वही पर Mukesh Ambani ने Nita जी को शादी का प्रस्ताव दिया.

और Mukesh Ambani ने कहा की जब तक तुम हां नहीं कहोगी  तब तक यह कार यही खड़ी रहेगी इसके आगे नहीं जायगी चाहे हरी लाइट भी क्योँ न हो जाए, अब लाल से हरा सिग्नल हो गया पीछे दूसरी गाड़िया हॉर्न मार रही है और Mukesh Ambani अपनी गाडी आगे ही नहीं भड़ा रहे, आखिर कार Neeta जी ने हां कहा शादी के लिए और कार आगे भड़ी और इनकी ज़िन्दगी भी.

दोनों की शादी हो गयी दोनों के ३ बच्चे है Anant और Akash और एक लड़की है जिसका नाम है Isha. Antila में यह लोग रहते है २७ मंज़िला यह बिल्डिंग है इस बिल्डिंग में सब कुछ है १६० कार गराज है और ६०० नौकर है इस बिल्डिंग में, और कहा जाता है की यहाँ पर नौकरो की तनख्वा महीना ५०००० है.

तोह दोस्तों यह थी  मुकेश अंबानी जीवनी - Biography of Mukesh Ambani in Hindi, आशा करता हु आपको पसंद आयी होगी।